इंसान को भगवान ने एक खूबसूरत जिंदगी दी है…और इस खूबसूरती जिंदगी को ओर भी सुंदर बनाना हमारा अपना काम होता है…इंसान उस चीज की तरह है जिसको आप जितना अधिक सहेजकर रखेंगे उसका मुल्य उतना ही बढ़ेगा। जिंदगी है तो सुख और दुख दोनों ही होंगे…और सुख-दुख दोनों का हमारी जिंदगी में होना बेहद जरुरी भी है…अगर हमारे जीवन में उतार-चढ़ाव नहीं होंगे तो ये सिर्फ एक सीधी सड़क की तरह होगी जो कहीं खत्म नहीं होती…जिंदगी के एक हर लम्हे को खुशी से जीना ही जिंदगी का असली मतलब और मकसद है।

हमें अपनी जिंदगी के हर एक पल को खूबसूरत बनाने के लिए सबसे पहले दूसरों को प्यार करना उनकी इज्जत करना और उन्हें माफ कर देना सीखना होगा…हमेशा बदला लेना ही आपकी परेशानियों का अंत नहीं होता कभी-कभी माफ करना भी आपको बहुत बड़ा बना देता है।

जिंदगी एक किताब है जिसको पूरा पढ़े बिना आप जान नहीं सकते कि आखिर आपकी लाइफ में लिखा क्या है..और इसके लिए जिंदगी के हर पल को जीना बेहद जरुरी है…कहते है जिंदगी बहुत छोटी होती है लेकिन अगर इंसान उसके हर एक पल को जीना सीख लें तो जिंदगी क्या होती है और कितनी मजेदार होती है इसका पता उसे चल जाएगा।

इंसान अपने काम में आज इतना खो चुका है कि वो अपने जिंदगी के कुछ अच्छे पलों को भी खुश होकर नहीं जी पाता और उसके बाद वह अपने आस-पास के लोगों को अपनी दुखों के लिए जिम्मेदार ठहराता है…लेकिन दूसरों को जिम्मेदार ठहराना आपकी हर उलझन को सुलझा नहीं सकता…अपनी परेशानियों को कम करने के लिए हमें खुद ही कोशिश करनी होगी…दूसरों को माफ करना, हमेशा दूसरों की मदद करना, छोटी सी बातों में बड़ी खुशियों को ढूंढना ही जिंदगी जीने का असली मजा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here